पीएम जन आरोग्य योजना में फर्जीवाड़ा का खुलासा हापुड़ में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत के अंतर्गत सीएमओ की जाँच में फर्जीवाड़े का बड़ा खुलासा हुआ है सरकारी वेबसाइड का गलत तरीके से उपयोग कर संविदा कर्मचारी द्वारा हापुड़ में करीब सैकड़ो अपात्र लोगो के गोल्डन कार्ड बनाने का मामला सामने आया है जिसका जांच में खुलासा होने के बाद एक महिला संविदा कर्मचारी पर एफआईआर दर्ज कराई गई है जिसके बाद फर्जीवाड़ा करने वाले संविदा कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है जानकारी के अनुसार दीपमाला नाम की युवती आयुष्मान भारत योजना में डाटा एंट्री के पद पर संविदा कर्मचारी के तौर पर तैनात है आरोप है कि संविदा कर्मचारी ने पीएम आयुष्मान योजना के अंतर्गत फर्जी तरीके से करीब सैकड़ो फर्जी लाभार्थियों के फर्जी तरीके से गोल्डन कार्ड बना दिये । जब इस मामले का शक जिले की सीएमओ को हुआ था इस मामले की जांच कराई गई और जांच के लिए एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया वही जब इस मामले की जांच नोडल अधिकारी द्वारा की गई तो दूध का दूध और पानी का पानी हो गया । नोडल अधिकारी की जांच में बड़ा फर्जीवाड़ा निकलकर सामने आया है नोडल अधिकारी ने जांच में करीब 153 ऐसे फर्जी लाभार्थी पाए जिनको योजना के लाभ की जरूरत ही नही थी और महिला संविदा कर्मचारी द्वारा फर्जी तरीके से फर्जी लाभार्थियों को योजना का लाभ पहुँचाने के उद्देश्य से फर्जी लाभार्थियों के गोल्ड कार्ड बना दिये गए थे । वही
Share To:

Post A Comment: