*गद्‌दे पर रखा लैपटॉप फटने से फ्लैट में लगी आग, बाल-बाल बची इंजिनियर की जान* लैपटॉप पर काम करते हुए सो जाना कभी-कभी खतरनाक हो सकता है।
राजनगर एक्सटेंशन ही रिवर हाईट सोसायटी में रहनेवाले सॉफ्टवेयर इंजिनियर का लैपटॉप शटडाउन नहीं करने के कारण जलकर खाक हो गया। राजनगर एक्सटेंशन के फ्लैट में लैपटॉप के कारण आग लग गई, आग पूरे बिस्तर पर फैल गई सॉफ्टवेयर इंजिनियर ने बालकनी से शोर मचाकर बचाई जान, रस्सी के सहारे नीचे उतारा गया लैपटॉप शटडाउन किए बिना ही दूसरे कमरे में जाकर सो गया था इंजिनियर बालकनी से पड़ोस की दीवार पर चढ़कर इंजिनियर ने शोर मचाया, जिसके बाद फायर ब्रिगेड ने आग बुझाई गाजियाबाद अगर आप देर रात तक लैपटॉप पर काम करने के आदी हैं और काम निपटाने के बाद उसे प्रॉपर तरीके से शटडाउन नहीं करते हैं तो अलर्ट हो जाएं,। ऐसा नहीं करने पर राजनगर एक्सटेंशन की रिवर हाईट सोसायटी के 7वें फ्लोर पर रहने वाले सॉफ्टवेयर इंजिनियर के घर में आग लग गई। जिस बिस्तर पर लैपटॉप रखा हुआ था वह पूरी तरह से जलकर राख हो गया। रस्सी के सहारे इंजिनियर को नीचे उतारा गया दूसरे कमरे में सो रहे इंजिनियर को घटना की जानकारी सुबह 8.30 बजे के आसपास हुई, जब धुआं उनके कमरे में फैलकर पहुंचा और दम घुटने लगा। जब कमरे से बाहर निकलकर उन्होंने देखा तो उनका लैपटॉप जल रहा था। लैपटॉप में लगी आग बिस्तर पर फैल चुकी थी। यह देखकर वह डर गए और जान बचाने के लिए बाथरूम से लॉबी के रास्ते बालकनी में जाकर पड़ोस की दीवार के पिलर पर चढ़ गए और शोर मचाने लगे। इसे सुनकर गार्ड ने फायर ब्रिगेड को सूचना दी। इसके बाद आग पर काबू पाने के साथ ही इंजीनियर को रस्सी के सहारे नीचे उतारा गया। *नोएडा की नेटवर्किंग कंपनी में करता है काम* पीड़ित सॉफ्टवेयर इंजिनियर राहुल कुमार नोएडा की सेक्टर-62 स्थित एक नेटवर्किंग बेस्ड कंपनी में काम करते हैं। वह अपनी पत्नी के साथ सोसायटी में किराए के फ्लैट में रहते हैं। उन्होंने बताया कि उनकी नाइट शिफ्ट थी। ऑफिस से आने के बाद वह कंपनी के दिए लैपटॉप पर घर से ही कुछ काम करने लगे। काम करते समय नींद आने पर लैपटॉप को बिना शटडाउन किए उसकी स्क्रीन को नीचे कर दूसरे कमरे में जाकर सो गए। सुबह उनकी पत्नी जो स्कूल में पढ़ाती है, स्कूल चली गईं। करीब 8.30 बजे अचानक पूरे घर में धुआं भर गया। तब उन्हें घटना की जानकारी हुई। *बालकनी में जाने से बाल-बाल बचे* सीएफओ सुनील सिंह ने बताया कि जांच में आया है कि इंजिनियर राहुल ने अपने लैपटॉप को रात में काम के बाद शटडाउन न कर स्लीप मोड में छोड़ दिया था और वह सो गए थे। लैपटॉप में आग लगने के बाद उन्होंने समझदारी दिखाई और बॉलकनी की तरफ चले गए। जिससे वह बाल बाल बच गए। दमकलकर्मी जब मौके पर पहुंचे तो काफी धुआं भरा हुआ था। धुएं की वजह से पूरा कमरा काला पड़ गया है। घर में रखा सोफा भी चपेट में आने से क्षतिग्रस्त हो गया है। *लैपटॉप प्रयोग करते हैं तो इन बातों का रखें ध्यान* • बेड और गोद पर रख कर लैपटॉप को कभी यूज न करें, बेड पर कुछ डस्ट हमेशा होता है फैन को ब्लॉक करता और हीट बढ़ती है। जिसकी वजह से फैन से निकलने वाली हीट भी बाहर नहीं आ पाती है। • लैपटॉप का काम नहीं हो तो उसे हमेशा शटडाउन करें। • लैपटॉप को कभी चार्चिंग पर लगा न छोड़ें, इससे भी नुकसान होने का खतरा रहता है। • जिस स्थान पर भी लैपटॉप रखें वह हार्ड सरफेस हो। • बैटरी में कुछ भी दिक्कत होने पर उसे फौरन बदल लें।
Share To:

Post A Comment: