पिलखुवा विकास प्राधिकरण को बिना संज्ञान कराएं सिंभावली क्षेत्र के अंदर चल रही है खुलेआम अवैध प्लॉटिंग भू माफियाओं का हल्ला बोल आखिर क्यों कृषि क्षेत्रीय प्रदेश प्रशासन होम पिलखुवा विकास प्राधिकरण को बिना संज्ञान कराएं सिंभावली क्षेत्र के अंदर चल रही है खुलेआम अवैध प्लॉटिंग भू माफियाओं का हल्ला बोल आखिर क्यों पिलखुवा विकास प्राधिकरण को बिना संज्ञान कराएं चल रहा है थाना सिंभावली क्षेत्र के अंदर अवैध प्लॉटिंग का कार्य धड़ल्ले से भू माफियाओं का हल्ला बोल, सिंभावली क्षेत्र के अंदर कई जगह भू माफियाओं का अवैध प्लॉटिंग को लेकर खुलेआम बिना किसी परमिशन के हल्ला बोल आखिर क्यों, या चल रहा है मिलीभगत के कारण है या कार्य भू माफियाओं का, जिस पर नहीं है कोई भी पिलखुवा विकास प्राधिकरण की कार्यवाही,। जनपद हापुड़ के थाना सिंभावली क्षेत्र के अंदर हो रही है खुलेआम अवैध प्लॉटिंग बिना किसी परमिशन के आखिर क्यों, पिलखुवा विकास प्राधिकरण को बिना संज्ञान कराएं कर रहे हैं भूमाफिया अवैध प्लॉटिंग , महज सिर्फ चंद रुपयों के लिए, कृषि युक्त जमीन पर चल रही है अवैध प्लॉटिंग बन रहे है बिना परमिशन के मकान सिंभावली क्षेत्र के अंदर भू माफियाओं का खुला तहलका, जिसके कारण फिरती है फिर आम जनता परेशान बिना किसी नापतोल के, सिंभावली हरोड़ा मोड़ के पास, थाना सिंभावली क्षेत्र के नहर की पटरी के नीचे, थाना सिंभावली क्षेत्र के कस्बा बक्सर मोड़ के नीचे बन रहे हैं यहां पर खुलेआम मकान चल रहा है दिन-रात कार्य बिना किसी झिझक के, थाना सिंभावली क्षेत्र के अंदर चारों तरफ है भू माफियाओं का हल्ला बोल, पिलखुवा विकास प्राधिकरण को बिन संज्ञान कराएं चल रहा है यह सब कार्यक्रम, बक्सर मोड के नीचे उतरते ही कई बार चल चुकी है पिलखुवा विकास प्राधिकरण की मशीन फिर भी नहीं आ रहे बाज भूमाफिया दिखा रहे हैं ठेंगा खुलेआम पिलखुवा विकास प्राधिकरण को आखिर क्यों, चल रहा है खुलेआम मकान बनाने का सिलसिला वह भी बिना किसी परमिशन के, आखिर कब जागेगा पिलखुवा विकास प्राधिकरण इन पर अपनी जेबीसी मशीन को लेकर ताकि फिर इनकी उम्मीदों पर पानी, या पिलखुवा विकास प्राधिकरण की मिलीभगत के ही कारण चल रहा है क्षेत्र के अंदर यह भू माफियाओं का कार्यक्रम, सिंभावली क्षेत्र के अंदर कई जगह दे रहे हैं भू माफिया, इस कार्य को बढ़ावा,वो भी बिना किसी डर या भय के आखिर क्यों।। अब देखने वाला विषय ये होगा की
Share To:

Post A Comment: